Sunday, February 15, 2015

Driving into danger: Couple Gaurav and Ruchika goes missing (Episode 470, 472 on 14th, 15th Feb 2015)



Gaurav (real name Avijit) and Ruchika (real name Maumita) are childhood friends and soon they are getting marry. They both hails from West Bengal and lives in Delhi. By profession, they both are painters. Before marriage they plans a tour to Dehradun. They spends few days there and takes full fun of their tour. On the last day as per schedule, they checkout from the hotel in the noon and plans to spend few more hours in the city as their train will depart at 9 o'clock in the night. They hires a taxi and that taxi driver takes them to some river side area to enjoy.

After some time their parents tries to call them but their phone numbers are switched off. Parents are confused because it is an abnormal situation. After two days their parents leaves for Dehradun and files their missing complain at the police station.

Police asks the hotel where they stayed. Police gets information that the couple left hotel on time and took a cab for railway station. Then police finds that taxi driver and asks him about the couple. He also tells police that he dropped then as per train schedule and does not know where they went after that.
गौरव और रुचिका, दोनों ही पेंटर हैं जिनको पेंटिंग बनाने का शौक है। दोनों एक दुसरे को बचपन से जानते हैं और जल्दी ही शादी करने वाले हैं। ये दोनों ही बंगाल के रहने वाले हैं और दिल्ली में रहते हैं। दोनों ही शादी के कुछ दिन पहले उत्तराखंड घूमने निकलते हैं। वो जिस होटल में रुके हैं वहीँ से उनको एक टैक्सी ड्राइवर के साथ मिलती है जो उनको जगह जगह घुमाने ले जाता है।

अपना सारा टूर पूरा करने के बाद उनको वापस दिल्ली के लिए निकलना है सो वो लोग होटल से चेकआउट करने के बाद थोड़ा समय एक नदी के किनारे बिताते हैं। इस बीच टैक्सी ड्राइवर उनका इंतज़ार करता है। उसके बाद क्या होता है कुछ पता नहीं चल पता है क्युकी उन्दोनो के घर वाले परेशान हैं की वो दोनों अपना अपना फ़ोन नहीं उठा रहे हैं। २-३ दिन बीत जाते हैं मगर उनकी कोई खबर नह्नि मिलती है तो गौरव और रुचिका, दोनों के पिता देहरादून पहुँचते हैं और पुलिस में मिसिंग कम्प्लेन दर्ज कराते हैं।

पुलिस सबसे पहले तो उस होटल पे संपर्क करती है जहाँ वो लोग रुके थे और उसके बाद वो उस टैक्सी ड्राइवर से बात करते हैं जो उनलोगों को होटल से रेलवे स्टेशन तक ले गया था। वो भी बताता है की उसने उनदोनो को रेलवे स्टेशन छोड़ा था, उसके बाद वो लोग कहाँ गए पता नहीं।

YouTube:
Part 1: https://www.youtube.com/watch?v=gnprFXtKqU0
Part 2: https://www.youtube.com/watch?v=CiEB3zPlIS8

SonyLiv:
Part 1: http://www.sonyliv.com/watch/crime-patrol-satark-14th-february-2015-taxi-part-2
Part 2: http://www.sonyliv.com/watch/crime-patrol-satark-15th-february-2015-driving-int

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2015/02/crime-patrol-uttarakhand-shocker-delhi.html


1 comment:

  1. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete

You comment will be live after moderation....