Friday, May 29, 2015

Ek Haseena thi, Ek Deewana tha: Teenager Karan commits suicide over mysterious love affair (Episode 512 on 29th May 2015)

एक हसीना थी, एक दीवाना था
Ek Haseena thi, Ek Deewana tha


करन 18 साल का है और कॉलेज में पढता है. एक सुबह वो कॉलेज जाने के लिए तैयार होता है और फिर अपनी माँ को अपनी पॉकेट मनी के रूपए देता है. वो काफी परेशान लग रहा है. उसकी माँ उसको पूछती है की वो ये रूपए उसे क्यों दे रहा है मगर वो देकर घर से निकल जाता है. उसकी माँ समझ नहीं पाती है की वो इतना परेशान क्यों है. वो घर से निकलता है और फिर वापस नहीं आता है. बाद में उसकी बहन और माँ उसका फ़ोन भी मिलाती है मगर उसका फ़ोन लगातार स्विच ऑफ है.

करीब 48 घंटे बाद वो लोग पुलिस स्टेशन पहुच कर करन की मिस्सिंग कंप्लेन लिखाते हैं. वो लोग पुलिस को बताते हैं की करन एक होनहार छात्र है और वो अपनी हर बात उनलोगों से शेयर करता है. उसके दोस्त भी पुलिस को बताते हैं की करण का कोई लव अफेयर नहीं था जिसके कारण वो परेशान हो. करन की माँ और बहन बताती हैं की करन किसी बात को लेकर कुछ दिन से परेशान था मगर उसने कभी कुछ बताया नहीं.
virtual account profile from one similar kind
of case of blackmailing over the internet
पुलिस करन के फ़ोन रिकॉर्ड तलाशना शुरू करती है और तब उसको एक नंबर पे 4-5 बार लगातार बात हुई दिखती है. ये नंबर एक बार-सिंगर गौरव शिंदे का है. वो पुलिस को बताता है की उसकी राह चलते करन से मुलाकात हो गई थी. वो एक सिंगर है और करन को भी पुराने गाने पसंद हैं सो उनकी अक्सर बातचीत होती रहती थी.

2 दिन बाद पुलिस को एक रेलवे ट्रैक पर करन की लाश मिलती है और ये मामला अब आत्महत्या का नज़र आरहा है. पुलिस अब एक्चुअल दुनिया से निकल कर करन की वर्चुअल दुनिया की तरफ बढती है और उसकी फ्रेंड्सबुक प्रोफाइल छानती है. उसकी प्रोफाइल देखने पर पता चलता है की करन एक अंजली नाम की लड़की से चैट करता था. करन की प्रोफाइल हैक करने पर पता चलता है की उसका अंजली के साथ ऑनलाइन लव अफेयर चल रहा था और चैट हिस्ट्री ये बताती है की वो लोग ऑनलाइन ही काफी आगे तक बढ़ चुके थे. ये चैट ये भी व्यक्त करती है की आखरी में उनकी ये बातचीत अंजली के भाई ने पढ़ ली थी और उसने करन को उसकी बहन से दूर रहने की धमकी दी थी.

पुलिस जब अंजली के इन्टरनेट एड्रेस का आईपी नंबर ट्रेस करती है तो पता चलता है की ये इन्टरनेट कनेक्शन गौरव शिंदे के नाम रजिस्टर है. अब पुलिस वापस गौरव को पकडती है.

SonyLiv: http://www.sonyliv.com/watch-crime-patrol-satark-online

YouTube: http://www.youtube.com/watch?v=MimPTqNBYjs

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2015/05/crime-patrol-blackmail-on-facebook.html


No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....