Friday, January 10, 2014

A Crime Revisited: Gudiya, a five year old gild kidnapped an molested (Episode 329, 330 on 10, 11 jan 2014)

A Crime Revisited
एक और अपराध


15 April, Gandhinagar, New Delhi
Gudiya, a 5 year minor girl was kidnapped by a neighbour for near 40 hours. The guys attacked her many time during these 40 hour. On 17th Apr 2013, she was rescued when some people heard she is crying somewhere. She was critical when they found her. A 200 ml bottle and candles were found in her organs.

During the whole incident, police did not write any FIR, even when Gudiya's uncle called them that she was kept inside a home and crying. When they called police, police responded that if they can hear the voice then rescue her themselves!

When police did not support, her father called Aam Aadmi Party (AAP). After conscious efforts of AAP, police agreed to write FIR within 2 hours of getting call. Later police arrested the duo Pradeep and Manoj from their native in Bihar. Later Gudiya's father and uncle told media and they were offered 2000 bribe by Delhi Police to keep the case unfold.

Police explained that Gudiya was kidnapped during evening of 5th Apr 2013. They tied her on a doss with rope and attacked her. Police also found dozens of video clips in their mobile phone. Manoj and Pradeep attacked Gudiya in the same manner was shown in the video clips.

Police captured Monoj first and he told them that he did this crime with his friend Pradeep. After getting news from media, Pradeep got altered and was changing his positions very carefully with changing his SIM cards. Police caught him finally in Lakhisarai of Darbhanga.

Whole night of 18 Apr 2013, people performed in front of Delhi Police headquarters and asked for resignation of Delhi Police Commissioner Neeraj Kumar.

During the tenure of previous government of Indian National Congress in Delhi, was badly failed against increasing crime rate against females. Delhi's former chief minister Sheila Dixit used to accused Delhi Police for these crime because Delhi Police does not come under Delhi Government and Delhi Police is not under control of her government.

Aam Aadmi Party's job was commendable on this case. Before becoming chief minister of Delhi, Arvind Kejriwal was always saying that while they not in power they can bring Delhi Police on track then after getting power they know how to control them.

Because of his different way of work, Arvind is in spotlight since he has become Chief Minister. People of Delhi has high expectations with him and they believe that after Vishan Sabha election, Aam Aadmi Party must show a amazing job in Loksabha elections.

१५ अप्रैल, २०१३, पूर्वी गाँधी नगर, नई दिल्ली
गुडिया, एक 5 साल की बच्ची जिसको उसके पडोसी ने अपहरण किया था. उसने उसको अपने फ्लैट में बंधक बना कर कई बार दुष्कर्म किया. 17 तारीख को जब कुछ लोगों ने बच्ची के रोने की आवाज़ सुनी तो उसे आज़ाद कराया गया. बच्ची जब मिली तब उसकी हालत बहुत ही नाज़ुक थी. उसके अंग में 200 मिली की बोतल और मोमबत्तियों के टुकड़े मिले थे.

चौकाने वाली बात ये थे की बच्ची की आवाज़ सुने जाने के बाद भी पुलिस ने किसी भी तरह की कोई सहायता नहीं करी. ये कह कर टाल दिया की जब बच्ची की आवाज़ सुनाई दे रही है तो दरवाज़ा तोड़ कर उसे खुद निकाल लो. गुडिया के पिता जब केस दर्ज करने थाने गए तो पुलिस ने मामले को रफा दफा करने की कोशिश करी और गुडिया के पिता को 2000 रुपये की पेशकश की.

पुलिस द्वारा सहायता न मिलने पर गुडिया के पिता ने आम आदमी पार्टी के कार्यालय फ़ोन किया. उसके बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं के सजग प्रयास की वजह से पुलिस ने ऍफ़ आई आर लिखी और दबाव बढ़ने पर दो दुष्कर्मियों, मनोज व प्रदीप को बिहार से धर दबोचा.

पुलिस सूत्रों ने बताया की मनोज व प्रदीप ने गुडिया का अपहरण 15 की शाम को किया था. उन्होंने बच्ची को चारपाई पर रस्सी से बांध दिया. उनदोनों के मोबाइल में दर्जनों अश्लील क्लिप्स मिली और उन दोनो ने उन्ही क्लिप्स के अनुसार ही नशे की हालत में बच्ची से दुष्कर्म किया.

मनोज ने पूछताछ के दौरान बताया की इस घटना में उसका दोस्त प्रदीप भी उसके साथ था और बाद में उसने सारा दोष प्रदीप पर ही डाल दिया. पुलिस ने मनोज को पहले गिरफ्तार किया था और मनोज की गिरफ़्तारी की खबर मीडिया में फैलने के बाद प्रदीप अलर्ट हो गया था और बहुत चालाकी से अपनी लोकेशन एंड सिम कार्ड बदल रहा था. पुलिस ने उसकी तलाश मुजफ्फरपुर, दरभंगा समेत कई जगहों पर की और आख़िरकार वो दरभंगा के लखीसराय से गिरफ्तार हुआ.

प्रदर्शनकारी 18 की पूरी रात पुलिस मुख्यालय के बहार जमा रहे और पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार ने इस्तीफे की मांग की. इसके अलावा प्रदर्शनकारियों ने एम्स, राजपथ, रेस कोर्स, और जनपथ पर भी प्रदर्शन किया.

गौरतलब है की दिल्ली की पिछली सरकार दिल्ली में बढ़ रहे महिलाओं के प्रति बढ़ रहे दुष्कर्मो के आगे बुरी तरह से नाकाम रही थी. दिल्ली ली पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित हर बार इन दुष्कर्मो के ठीकरा दिल्ली पुलिस पे थोपती आई थी क्योंकि दिल्ली पुलिस दिल्ली सरकार के अंतर्गत नहीं आती और दिल्ली पुलिस पर दिल्ली सरकार का कोई जोर नहीं चल सकता है.

गुडिया का केस में आम आदमी पार्टी का अनुदान सराहनीय रहा. दिल्ली केतत्कालीन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहले से ही कहते आ रहे थे की अगर वो और उनकी पार्टी सरकार हाथ में न होने पर अगर दिल्ली पुलिस को ठिकाने पर ला सकती है तो सत्ता हाथ में आने के बाद तो उनको ठीक कर ही देगी. अरविंद केजरीवाल के मुख्यमंत्री बनने के बाद से लगातार अपने अलग ढंग से काम करने के तरीकों को लेकर चर्चा में रहे. दिल्ली की आम जनता को उनसे बहुत उम्मीदे हैं.

SonyLive:
Part 1: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-329-january-10-2014
Part 2: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-330-january-11-2014

YouTube:
Part 1: http://www.youtube.com/watch?v=pmtesvo8nMA
Part 2: http://www.youtube.com/watch?v=uzVrTZktQhw


No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....