Friday, March 21, 2014

Quest for happiness: Who killed carpenter Satnam and why? (Episode 249 and 250 on 21st, 22nd March 2014)



Satanam is husband of Kuljeet and father of 2 kids. He is a daily wage earner without owing a shop. His whole family depends on his daily wages. His wife Kuljeet is a ambitious lady who is frustrated of his husband's small earnings.

Kultijeet wants a scooty but it is not possible for Satnam. Finally Satnam gets a contract of 2.5 lakh in which he involves 3 more persons. His family is happy now and he buys scooty for Kuljeet, new cloths for kids.

All goes well but after few days same condition comes back. Bad echonomic condition and daily quarrels between Kuljeet and Satnam are again started. These critical situations makes Satnam a alcohalic person. Kuljeet is also spending her life as before. Most of the time when Satnam comes back to his home in the evening, he finds the doors are locked. Kuljeet does not clarifies what does she do and how does she manage fuel for her scooty.

A day Satnam is wating at the same place for work where some other labors also looks for some daily work, a lady named Rashmi comes and asks him for some woodwork at her home. Satnam starts working at her home and slowly slowly he starts getting happiness from her. Finally his search for happiness is over, but suddenly a day police finds Satnam's body is a canal. His throat is slit and his body is all blooded.

सतनाम सिंह, पेशे से एक कारपेंटर है और उसकी जीविका रोज़ की मजदूरी पर ही निर्भर है. चूंकि उसकी कोई अपनी दुकान नहीं है, वो रोज़ होने वाली आमदनी पर ही आश्रित है. दूसरी तरफ उसकी पत्नी कुलजीत एक बहुत ही महत्वाकांक्षी औरत है जो की अपने पति की कम कमाई से दुखी है. शादी से पहले उसने बहुत बड़े बड़े सपने देखे थे मगर उसकी शादी एक ऐसे आदमी से होगई है जिसके लिए कभी कभी एक दिन की राज़ी रोटी कमाना भी बहुत मुश्किल हो जाता है.

कुलजीत बहुत दिन से चाह रही है की सतनाम उसके लिए एक स्कूटी खरीद दे मगर सतनाम के लिए ये संभव नहीं है. एक दिन उससे ढाई लाख का एक घर ने काम का कॉन्ट्रैक्ट मिलता है जिसमे तो अपने साथ तीन लोगों को और लगता है. उसकी पत्नी बहुत खुश होती है और जिद कर के स्कूटी खरीद लेती है. सतनाम अपने बच्चों के लिए भी नए कपड़े खरीदवाता है.

कुछ दिन तक सबकुछ ठीक चलता है मगर फिर वही समय वापस लौट आता है. पैसे की तंगी और रोज़ की खट-खट शुरू हो जाती है. सतनाम पीना शुरू कर देता है और दूसरी तरफ कुलजीत अपनी दुनिया में मस्त रहती है. अक्सर सतनाम जब घर लौटकर आता है तो उसे घर में ताला लगा मिलता है.

वो रोज़ की तरह नौकरी की तलाश में चौराहे पे बाकी कारपेंटर के साथ खड़ा होता है. एक दिन रश्मि नाम की एक औरत उसके पास आती है और कहती है की उसे अपने घर में कुछ काम करवाना है. सतनाम उसके घर जाकर काम शुरू कर देता है. धीरे धीरे सतनाम की जिंदगी में बदलाव आने शुरू हो जाते हैं और वो खुश रहने लगता है. उसकी ख़ुशी की तलाश आखिरकार ख़तम हो जाती है मगर फिर अचानक एक दिन पुलिस को सतनाम की लाश एक नाले में पड़ी मिलती है. उसका शरीर खून से लथपथ है और उसका गला कटा गया है.

YouTube:
Part 1: https://www.youtube.com/watch?v=62nbZSjOJKQ
Part 2: https://www.youtube.com/watch?v=l-SF6BtRC94

SonyLiv:
Part 1: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-349-march-21-2014
Part 2: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-350-march-22-2014

Thanks to Sharma Upma for helping me in getting Inside Story of the case :)
Below is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/04/crime-patrol-woman-held-for-husbands.html


Other Tags: manpreet kaur, jeewan singh, ranjeet singh, ludhiyana, nanaksar, praveen rani, sonu, sukkha, 50 thousand, sindhwa canal

No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....

You might also like