Friday, April 24, 2015

Sting Operation: Blackmailing, Missing and then murder of Ambika Deha (Episode 498, 499, 500 on 24th, 25th 26th Apr 2015)

भंवरी देवी ​(अम्बिका देहा) जिला जोधपुर (राजस्थान) की बिलारा तहसील के जलीवाड़ा गाँव में नर्स थी जो की 1 सितम्बर, 2011  को अचानक गायब हो गई थी। उसकी गुमशुदगी के बाद तीन दिसम्बर, 2011 को कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया था और भंवरी की लाश के जगह की जानकारी तीन दिन बाद मिली थी।

इन सब घटनाओं के कुछ ही दिन पहले न्यूज़ चैनल पे एक वीडियो क्लिप प्रसारित होना शुरू हुई थी जिसमे की कथित तौर पर भंवरी और राजस्थान के राजस्व बिभाग के एक मंत्री महिपाल मदेरणा (जसवंत गट्टा) को आपत्ति जनक हालत में दिखाया गया था।

भंवरी की गुमशुदगी को लेकर उसके पति ने मंत्री मदेरणा पर आरोप लगाया की इस किडनेपिंग ले पीछे वही लोग हैं। आरोप ये लगाया गया की भंवरी मंत्री मदरेणा और कांग्रेस के मलखान सिंह (चितरंजन सुजानी) को एक सीडी को लेकर ब्लैकमेल कर रही थी और इस सीडी में मदरेणा और कुछ और लोग भी भंवरी के साथ आपत्तिजनक हालत में देखे गए थे।

1 मार्च, 2012 को सीबीआई द्वारा दाखिल दूसरी चार्जशीट में ये कहानी सामने आई की पहले तो भंवरी इन नेताओं की इच्छापुत्री करती रही और फिर धीरे-धीरे पैसे कमाने की ललक ने उसको इन्हीं लोगों को ब्लैकमेल करने का रास्ता सुझा दिया, मगर हुआ ये की कहानी का अंत आते आते इन्हीं लोगों ने भंवरी को मरवा दिया। सीबीआई के हाथ जब ये केस आया ठीक उसी समय मदरेणा को सरकार से निकाल दिया गया और कांग्रेस विधायक मलखान को जेल भेज दिया गया।

कहानी की शुरुवात 2002 में हुई थी जब भंवरी अपना ट्रांफर चाहती थी और इसके लिए उसकी मुलाक़ात विधायक मलखान सिंह से बार बार होती थी और इस प्रकार उनकी नज़दीकियां शारीरिक संबंधों में बदल गई। मलखान ने ही भंवरी की मुलाकात मदरेणा से कराई थी और उसके बाद मदरेणा और भंवरी के बीच का सम्बन्ध मलखान की जानकारी में भी चलता रहा। चार्जशीट के अनुसार भंवरी की दूसरी बेटी मलखान की संतान है और भंवरी अक्सर मलखान से अपनी इस बेटी के हिस्से के लिए लड़ाई करती थी। भंवरी चाहती थी की उसको चुनाव लड़ने के लिए टिकट भी मिले और टिकट न मिलने के अंदेशे को लेकर वो मलखान की फजीहत करती थी और पुलिस में शिकायत भी कर दी थी।

मदरेणा और मलखान वैसे तो एक दुसरे के पक्के मित्र दिखते थे मगर असल में मलखान चाहता था की वो किसी तरह से मदरेणा को उसके मंत्री पद से हटा कर खुद उस कुर्सी पर बैठ सके। इसके लिए मलखान ने एक प्लान भी भंवरी के आईडिया पर ही बनाया था। भंवरी ने खुद की मलखान के साथ एक सीडी बना ली थी और जब उसने मलखान को इसके बारे में बताया तो मलखान ने भंवरी के इस पैतरे को अपने फायदे के लिए एक सुझाव दिया। उसने भंवरी को ये कहा की वो एक सीडी मदरेणा के साथ बनाये और इससे वो मदरेणा से करोड़ों वसूल सकती है। मलखान की महत्वाकांक्षा थी की सीडी में मदरेणा के एक्सपोज़ होने के बाद वो अपना मंत्रिपद गवा देगा और ये कुर्सी मलखान को मिल जाएगी।

इसकी कोशिश करी गई 2008 में जब मलखान की बहन इंद्रा बिश्नोई (राजलक्ष्मी) और भंवरी ने भंवरी की ननद गुड़िया को बोला की वो मदरेणा के साथ सीडी बनाये मगर जब गुड़िया ने ये करने से मना कर दिया तो भंवरी ने खुद तय किया की वो ये खुद करेगी। इस प्रकार एक सीडी बनाई गई जो की गलत एंगल पे कैमरा रखा होने की वजह से ठीक से बन नहीं पाई। इसके बाद और भी कई वीडियो बनाई गई और ये भी सुना जा रहा है की एक सीडी मलखान की भी बनाई गई थी मगर वो पब्लिक होने से पहले ही गायब या नष्ट कर दी गई। सीडी और पैसे की ये कहानी काफी दिन तक चली और आखिरकार भंवरी को मरवा दिया गया।

भंवरी की हत्या की साज़िश भी बहुत सोच समझ कर रची गई। भंवरी कहाँ आती-जाती है इसकी पूरी जानकारी भंवरी के पति को रहती थी मगर आखिरकार किसी तरह से उसको पैसे देने के बहाने अकेले घर से निकालने का प्लान बनाया गया। उसको एक कार में बैठाला गया और शायद चलती गाडी में ही उसकी हत्या करी गई।
मंत्री मदेरणा के साथ भंवरी का कथित वीडियो

हत्या करने के बाद उसकी लाश को ठिकाने पे लगाना भी एक बड़ा काम था, सो इसका जिम्मा एक लोकल गिरोह को दिया गया जिसने पहले तो भंवरी की लाश को जलाया फिर उसकी हड्डियों को पीस कर नहर में उसके सामान के साथ बहा दिया। एक चकित करने वाली बात ये भी थी की सीबीआई की टीम को भंवरी के हाथ की घडी नहर से चलती हुई हालत में मिली।

Part 1Part 2Part 3


Search Tags: mahipal maderna, Bhanwari Devi, malkhan singh, Indra Bishnoi, Ramsingh Bishnoi, Sahiram Bishnoi, Sohanlal, Bishra ram, Sunil Gurjar, parasram bishnoi, amarchnd

No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....