Friday, December 12, 2014

Wilful Blindness: 70 year old Eknath Tawde murdered by his son Prasad Tawde (Episode 444 on 12 Nov 2014)

Wilful Blindness
देखी-अनदेखी


Retired Eknath Tawde hires a taxi toward his brother’s home. He has some injury on his head because driver is watching him pressing his head by his hand. Once taxi reaches destination, taxi driver asks him to get down of the taxi but Eknath does not respond. He notices that Eknath is unconscious so he calls police. Police brings him to hospital where doctor tells that he had severe head injury and has passed away.

Police traces and calls his brother Ramakant with help of Eknath’s mobile phone. He tells police that Eknath’s son Prasad Tawde attacked him on his head and after this he talked to Ramakanth and told that he is reaching his home. Police calls Prasad but he is in an intoxicated state and does not pick call. When police reaches Eknath’s home, door of the home are locked and their neighbor tells police that in the morning itself police already has taken Prasad with them. When police asks another police station then they comes to know that Prasad’s fiancee Ketki lodged an FIR of blackmailing against both of them. Prasad was blackmailing her over some private photos. According to Ketki, Prasad has already extorted a huge amount from her and now he was again trying to get more money. He has warned Ketki that if she do not arrange money for him he will upload her private photos to internet.

Drunken Prasad is not in condition of giving any statement. Police brings him to other police station with them and tries to ask why he killed his father.

बुजुर्ग एकनाथ तावडे रास्ते में एक टैक्सी रोकते हैं और उसमे बैठ जाते हैं. उनके सर में कोई चोट लगी है जिसकी वजह से वो अपने सर को बार बार दबा रहे हैं और टैक्सी ड्राईवर इस चीज पे गौर कर रहा है. जब वो अपने गंतव्य पर पहुचते हैं तो टैक्सी वाला उनको उतरने को बोलता है मगर कोई जवाब नहीं आता है. टैक्सी वाला उनको हिलाने डुलने की कोशिश करता है मगर बुज़ुर्ग कोई जवाब नहीं देता. वो पुलिस को फोंन करता है. पुलिस आती है और टैक्सी ड्राईवर और बुज़ुर्ग को अस्पताल ले जाती है. अस्पताल में डॉक्टर बताता है की उनके सर में सीरियस चोट लगी थी जिसकी वजह से उनकी मृत्यु हो चुकी है.


पुलिस उनके मोबाइल फ़ोन की मदद से उनके भाई रमाकांत को फ़ोन करती है और बुलाती है. वो बताते हैं की उनको उनके बेटे प्रसाद तावड़े ने सर पे चोट मारी थी और उसके बाद वो टैक्सी से अपने भाई के घर आ रहे थे तभी उनकी मौत हुई. पुलिस उनके घर पर जाकर पता करती है तो पता चलता है की उस इलाके की पुलिस पहले से ही उनके बेटे को थाणे ले जा चुकी है. पुलिस जब उस एरिया के थाने पहुचती है तो पता चलता है की प्रसाद की मंगेतर केतकी ने उसके और उसके बाप एकनाथ के खिलाफ कंप्लेंन दर्ज कराइ थी की वो दोनों बाप बेटा उसको पैसे के लिए ब्लैकमेल कर रहे हैं. प्रसाद उससे काफी रुपये पहले ही ऐंठ चुका है, अब उसको और रुपये चाहिए. अगर उसको पैसे नहीं मिलेंगे तो वो उसके मोबाइल में सेव केतकी की कुछ आपत्तिजनक फोटो इन्टरनेट पर डाल देगा.

प्रसाद बुरी तरह से नशे में धुत है. इतना धुत की वो न तो बयान देने की हालत में है न की सीधा खड़ा होने की हालत में. पुलिस अब उसको को अपने साथ थाने ले जाती है.

YouTube: https://www.youtube.com/watch?v=EZG8FC0Vpis

SonyLiv: http://www.sonyliv.com/watch/thriller-ep-444-december-12-2014

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/12/crime-patrol-thane-man-kills-father-who.html


No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....