Sunday, July 31, 2016

Rakeeb: Story of Seema and Shalini alias Mumtaaz and a Murder (Episode 690, 691 on 30th, 31st July, 2016)

रक़ीब
The Opponent



सीमा नाम की एक महिला को बांग्लादेश से भारत उसके फर्जी दस्तावेज़ बनवा कर लाया जा रहा है और भारत की सीमा में आने से ठीक पहले उसकी एक डायरी वहीँ गिर जाती है जिसमे उसके घर के सारे फ़ोन नंबर लिखे हुए हैं। वो बहुत बुरी तरह से डर गई है क्योंकि डायरी खो जाने के बाद वो अपने घर वालों से कभी बात नहीं कर पायेगी।

दूसरी तरफ कहानी है शालिनी शिंदे की जो की अपने परिवार की लाडली है और अपने बड़े भाई कमल शिंदे की बहुत करीब है। शालिनी जुनैद नाम के एक यूवक से प्यार करती है और उससे शादी करना चाहती है जब की उसका परिवार इस गैर मज़हबी प्यार के खिलाफ है। किसी तरह शालिनी जुनैद से शादी कर लेती है और अपने परिवार से अलग अपना घर बसा लेती है। दोनों मियां-बीवी दिहाड़ी मजदूर के तौर पे काम करते हैं। कई साल बीत जाते हैं और अब शालिनी अपने भाई को फ़ोन करती है और राखी पर अपने घर बुलाती है। कमल और उसकी पत्नी दोनों लोग राखी के दिन शालिनी के घर जाते हैं और उसको साड़ी उपहार स्वरुप देते हैं। उनलोगों को ये देख के अजीब लगता है की शालिनी का नाम अब मुमताज़ है। उनको ये भी महसूस होते है की शालिनी उर्फ़ मुमताज़ अपनी ज़िन्दगी में खुश नहीं है और वो कुछ बताना चाहती है। कुछ दिन बाद वो दोनों फिर से शालिनी से मिलने जाते हैं और उसके घर पे चारपाई के नीचे उसकी लाश पाते हैं।

A lady named Seema (played by Priya Shinde) is being trafficking from Bangladesh to India for job with her illegal documents but while is coming to india, she lost her precious diary that has all contact numbers of her family somewhere on the way. She gets scared after she acknowledges this because this was the only source to communicate with her family and without knowing any phone number she won't be able to contact anyone.

On the other hand story of Shalini (played by Dhanashri Kadgaonkar) who was a adorable daughter of her parents and brother (played by Swapnil Kothriwal). Shalini loves a muslim guy Junaid and wants to marry him but her family is against this marriage. Somehow she gets marry with Junaid and leaves her home. Now the couple is spending their lives as daily wage earner. Years passes, a day she calls her brother before Rakshbandhan and invites him on the occasion of Rakhi. Her brother and sister-in-law reaches her home on Rakhi and gifts him a Saari. They feels awkward when a woman at neighborhood calls her Mumtaaz. After having lunch the couple goes back to their home. They feels that Shalini is not doing well in her life and she wants to tell them something. Few days after they again comes to meet her at her home but finds Shalini's dead-body below the bed.




SonyLiv:
Part 1: http://www.sonyliv.com/Crime-Patrol-Satark-Rakib
Part 2: http://www.sonyliv.com/Crime-Patrol-Satark-Rakib-2

YouTube:Part 1: https://www.youtube.com/watch?v=b2vRh4N1TJI
Part 2: https://www.youtube.com/watch?v=sNOKA7slo_I

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2016/08/crime-patrol-woman-nephew-held-for.html

No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....

You might also like