Thursday, November 3, 2016

Dead End: Mysterious murder of junior advocate also parent's spoiled brat son Santosh Mahato (Episode 729, 730 on 29th, 30th Oct, 2016)

अंत
Dead End

Police is looking for a history-sheeter Dinesh Mishra who is absconding after a case of burglary. Cops is looking for him near his house in civilian dress and a day the caught Dinesh. He has multiple cases on him and police is assured that now he is going to spend a long time in the jail. He is asking his wife Kajri Mishra (played by Sonal Parihar) to arrange an advocate for his bail. Worried Kajri has a small kid and having cash crunch too.

On the other hand Santosh Mahato (played by Saheem Khan) is a young guy with BA. LLB degree. He is stubborn and spoiled brat son of his parents.A day he asks for 2,500 Rupees from his father but he denies. Later he meets with his friends and plans a robbery at jewellery shop which does not have any CCTV camera installed in it according to Santosh. After that robbery police comes to his house to arrest him because there were few hidden cams installed in the shop in which his and his friend's faces were clearly observed and identified.

He comes out of the jail on bail after few days but he is still following wrong path. An evening he gets brutally injured when a man slits his throat because Santosh and his friends were eve-teasing that man's sister. His condition was critical in this attack but somehow doctor's saves him.

After that on request of his father, Santosh starts practicing the law under a senior advocate.

पुलिस हिस्ट्रीशीटर दिनेश मिश्रा की तलाश में है जो की एक चोरी की वारदात के बाद से फरार है। पुलिस का पहरा दिन रात उसकी घर के आसपास लगा है और इसी बीच दिनेश एक बुर्के में आता दिखाई देता है और पुलिस मौके पर ही उसको धर लेती है। उसके ऊपर कई सारे केस है और इसी वजह से उसको अब लंबे समय तक जेल के अंदर रहना होगा। उसकी पत्नी कजरी मिश्रा किसी तरह से उसको बहार निकलवाना चाहती है और इसके लिए वो कोर्ट और वकील के चक्कर काट रही है।

दूसरी तरफ एक नवयूवक है जिसका नाम संतोष महतो है। शिक्षा की बात की जाए तो संतोष BA. LLB है मगर अपने माँ बाप की हाथ से निकली हुई संतान है। वो अपने पिता से ढाई हज़ार रूपए मांगता है और न मिलने पर वो नाराज़ होकर घर से निकल जाता है और अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर एक ज्वेलरी की दूकान को लूटने का प्लान बनाता है। उसके अनुसार इस दूकान में कोई भी CCTV कैमरा नहीं लगा है अतः उनका काम आसानी से हो सकता है। डकैती की अंजाम देने के बाद एक सुबह जब वो सो कर भी नहीं उठा है, पुलिस आती है और उसको ले जाती है क्योंकि दुकान में लगे छिपे हुए कैमरों से उसकी शक्ल साफ़-साफ़ पहचाल ली गई है। उसका पिता उसकी जमानत करवाता है मगर वो सुधरा अब भी नहीं है।

एक रात उस पर जानलेवा हमला भी होता है। ये हमला एक लड़की के भाई ने किया है जिसको संतोष और उसके दोस्त राज़ शाम को छेड़ते थे। हमला घातक होता है मगर डॉक्टर किसी तरह से उसको बचा लेते हैं।

इसके बाद संतोष के पिता अपने एक जानने वाले सीनियर वकील से सिफारिश कर के उनकी शरण में वकालत सीखने को बोलता है।

SonyLiv:
Part 1: Dead-End
Part 2: Dead-End 2

YouTube:
Part 1: https://www.youtube.com/watch?v=CjSrb2eRm7k
Part 2: https://www.youtube.com/watch?v=YCjGxRsKDqw

No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....