Friday, November 14, 2014

Unbridled Desires: Vinayak kills mother, wife and daughter (Episode 432 on 14th November 2014)

Unbridled Desires
बेलगाम ख्वाहिशें


Team leader in a Call Center Vinayak Shinde is father of a cute daughter and liv with his wife and mother. All the members of the family are very happy with their life including Vinayak. A day I suddenly meets him very old friend. His friend tell him that he has his own work then while he is leaving Vinayak looks at his car which is very costly and big. Now Vinayak is curious how he managed it. Vinayak asks him what does he do so he is managing this big vehicle, his friend explains him that he invests money in share market and earns from there. He tell Vinayak that he is doing well.

He gives him number of a stock broker and also explains him how to invest and earn from share market. Now Vinayak also starts investing money in share market. He earns well in few months so now he decides to quit from his job. After he quits, he is totally dependent on share market. He also gifts a scooty to his wife and buys a big new car.

After 2 years share market falls badly and Vinayak loses a huge amount.

Accused Sagar Madhav Gaikwad
विनायक शिंदे एक कॉल सेंटर में टीम लीडर है. उसके घर में उसके अलावा उसकी पत्नी, माँ और एक छोटी बेटी रहते हैं. अपने छोटे से परिवार में काफी खुश है. एक दिन वो अपने एक बहुत पुराने दोस्त से मिलता है. उसका दोस्त बताता है की उसका खुद का काम-धंधा है. फिर वो विनायक को अपनी कार में ले ले जाता है जो की एक बहुत ही महंगी कार होती है. विनायक के अन्दर उत्सुकता जगती है की वो आखिर ऐसा कौन सा छोटा सा काम काम करता है जिससे वो इतनी मेहेंगी कार खरीद सका है! उसका दोस्त बताता है की वो शेयर मार्किट में पैसा लगता है और उसी की बदौलत वो अच्छा कमा-खा रहा है.
विनायक उससे पूछता है की शेयर मार्किट में पैसे लगाने और कमाने का तरीका क्या होता है वो उसका दोस्त उसे एक स्टॉक ब्रोकर का नंबर देता है. विनायक भी खुद ही घर से शेयर मार्किट में पैसा लगाना शुरू कर देता है. वो कुछ ही महीनो में काफी अच्छी कमाई कर लेता है और इसके बाद वो अपनी नौकरी से इस्तीफ़ा दे देता है. विनायक अब पूरी तरह से शेयर परकेत पर ही निर्भर हो जाता है. इस सबके बाद वो अपनी पत्नी को स्कूटी गिफ्ट करता है और एक मंहगी कार भी खरीद लेता है. मगर करीब 2 साल बाद शेयर मार्किट में अचानक मंदी आती है और विनायक को लाखों का नुक्सान होना शुरू हो जाता है.

Here is the inside story of the case:
http://thrill-suspense.blogspot.com/2014/12/crime-patrol-shocking-unable-to-pay-rs.html


No comments:

Post a Comment

You comment will be live after moderation....

You might also like